'अहंकार भारतीय लोगों का स्वभाव नहीं', राहुल बोले- हमारी सरकार सद्भाव को नष्ट करने पर आमादा है

Rahul Gandhi
ANI
अंकित सिंह । Sep 22, 2022 8:46PM
राहुल गांधी ने साफ तौर पर कहा है कि हमारी सरकार देश की सद्भावना को नष्ट करने पर आमादा है। उन्होंने कहा कि घृणा, क्रोध और अहंकार भारतीय लोगों का स्वभाव नहीं है। हमारी सरकार सद्भाव को नष्ट करने पर आमादा है।

कांग्रेस की ओर से इन दिनों भारत जोड़ो यात्रा निकाली जा रही है। कांग्रेस का दावा है कि यह यात्रा देश में फैले नफरत को खत्म करने के लिए है। कांग्रेस की यह यात्रा कन्याकुमारी से शुरू हुई है जो कि कश्मीर तक जाएगी। 150 दिनों तक चलने वाली इस यात्रा में 3500 से ज्यादा किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी। फिलहाल यह यात्रा केरल में है। इस यात्रा में राहुल गांधी भी अपनी भूमिका निभा रहे हैं। इन सबके बीच राहुल गांधी ने एक बार फिर से केंद्र सरकार पर बड़ा हमला किया है। राहुल गांधी ने साफ तौर पर कहा है कि हमारी सरकार देश की सद्भावना को नष्ट करने पर आमादा है। उन्होंने कहा कि घृणा, क्रोध और अहंकार भारतीय लोगों का स्वभाव नहीं है। हमारी सरकार सद्भाव को नष्ट करने पर आमादा है।

इसे भी पढ़ें: 'अध्यक्ष का पद विचारधारा का पद', चुनाव लड़ने के सवाल पर राहुल बोले- मैं अपने रुख पर कायम हूं

राहुल ने आगे कहा कि भारत एक ऐसा देश है जो सद्भाव, करुणा और विनम्रता के लिए जाना जाता था लेकिन आज हम ऐसा देश देख रहे हैं जो नफरत, क्रोध और अहंकार से भरा हुआ है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भारत के प्रधानमंत्री द्वारा बोला गया प्रत्येक शब्द देश को विभाजित करने और लोंगो की भावनाओं को आहत करने के लिए बोला जाता है। इससे पहले राहुल ने कहा था कि देश में बेलगाम हो रही महंगाई, बेरोजगारी और सामाजिक नफरत के बीच एक बहुत गहरा रिश्ता है, जिसे समझने की जरूरत है। इनके बीच का यह रिश्ता जितना मजबूत होगा, देश उतना ही कमजोर होगा। उन्होंने कहा कि यात्रा की सफलता तीन विचारों पर आधारित है। एकजुट खड़ा भारत खुद से नाराज नहीं है, बेरोजगारी का स्तर विनाशकारी है और आवश्यक वस्तुओं की कीमतें आसमान छू रही हैं।

इसे भी पढ़ें: राहुल के एक व्यक्ति एक पद के संदेश को समझ गए गहलोत, सचिन पायलट पर कहा- मुख्यमंत्री तो विधायक चुनते हैं

राहुल ने कहा था कि यात्रा को लोगों को यह बताने के लिए डिज़ाइन किया गया है कि उन्हें एकजुट होने और एक ऐसे भारत में वापस जाने की आवश्यकता है जो अपने आप में प्रेमपूर्ण और स्नेही था। उन्होंने साफ तौर लर कहा कि बीजेपी-आरएसएस द्वारा नफरत फैलाने, कुछ चुने हुए लोगों द्वारा पूंजी की एकाग्रता, सकल बेरोजगारी दर और बड़े पैमाने पर मुद्रास्फीति के बीच एक कड़ी है। भारत की जनता यह समझने लगी है। राहुल ने यह भी कहा कि नफरत, हिंसा और अहंकार आज स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है। इस देश में नम्रता, करुणा और अहिंसा की परंपरा है - यह सच्चे भारत का प्रतिनिधित्व करता है।

अन्य न्यूज़