PFI के खिलाफ NIA का एक्शन, 15 राज्यों में 93 ठिकानों पर छापेमारी, 106 गिरफ्तार, जानें पूरी डिटेल

PFI office
ANI
अंकित सिंह । Sep 22, 2022 9:12PM
पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की अगुवाई में कई एजेंसियों द्वारा अपने कार्यालयों, नेताओं के घरों और अन्य परिसर में छापेमारी के विरोध में बृहस्पतिवार को केरल भर में विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई के खिलाफ अपना कड़ा विरोध जताते हुए संगठन ने केरल में शुक्रवार को सुबह से शाम तक की हड़ताल का आह्वान किया

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी कि पीएफआई के खिलाफ आज जांच एजेंसियों की सक्रियता सुर्खियों में रही। राष्ट्रीय जांच एजेंसी यानी कि एनआईए और प्रवर्तन निदेशालय ने देश भर में पीएफआई से जुड़े ठिकानों पर छापेमारी की। जानकारी के मुताबिक के 15 राज्यों में 93 लोकेशंस पर यह छापेमारी की गई है। 106 लोगों के गिरफ्तार होने की भी बात कही गई है। एनआईए की ओर से बताया गया है कि आज ED, NIA और राज्य पुलिस बलों द्वारा 15 राज्यों में 93 स्थानों पर शीर्ष PFI नेताओं और सदस्यों पर 5 मामलों में PFI नेताओं और कैडरों की आतंकवाद और आतंकवादी गतिविधियों की फंडिंग में शामिल होने और लोगों को कट्टरपंथी बनाने के इनपुट पर तलाशी ली गई। 

जानें आज की बड़ी बातें:

- NIA के करीब 300 अधिकारी तलाशी अभियान में शामिल रहे। NIA डीजी ने ऑपरेशन की निगरानी की। 

- NIA ने आज PFI पर 15 राज्यों में 93 स्थानों पर छापा मारा। केरल-39, तमिलनाडु-16, कर्नाटक-12, आंध्र प्रदेश-7, तेलंगाना-1, उत्तर प्रदेश-2, राजस्थान-4, दिल्ली-2, असम-1, मध्य प्रदेश-1, महाराष्ट्र-4, गोवा-1, पश्चिम बंगाल-1, बिहार-1 और मणिपुर में 1 स्थान पर छापा मारा। 

- अधिकारियों ने बताया कि सबसे अधिक गिरफ्तारी केरल (22) में की गई। इसक अलावा महाराष्ट्र (20), कर्नाटक (20), तमिलनाडु (10),असम (9), उत्तर प्रदेश (8), आंध्र प्रदेश (5), मध्य प्रदेश (4), पुडुचेरी (3), दिल्ली (3) और राजस्थान (2) में गिरफ्तारी की गईं। 

- NIA, ED और राज्य पुलिस की एक संयुक्त टीम द्वारा किए गए कई छापों में 106 से अधिक PFI सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है।

- असम CPRO ने कहा- पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के 10 कार्यकर्ताओं को पूरे राज्य में सांप्रदायिक रंग के साथ सत्ता विरोधी प्रचार प्रसार करने और माहौल को खराब करने एवं देश की आंतरिक सुरक्षा के लिए एक गंभीर खतरा पैदा करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: PFI ने लगाया NIA पर आतंक का माहौल बनाने का आरोप, रविशंकर प्रसाद बोले- जिसके खिलाफ सबूत होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा

- महाराष्ट्र में नांदेड़ के 5 सहित 20 PFI कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया है। 

-  मुंबई की एक अदालत ने बृहस्पतिवार को पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के पांच सदस्यों को 26 सितंबर तक के लिए महाराष्ट्र आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) की हिरासत में भेज दिया।

- पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की अगुवाई में कई एजेंसियों द्वारा अपने कार्यालयों, नेताओं के घरों और अन्य परिसर में छापेमारी के विरोध में बृहस्पतिवार को केरल भर में विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। 

- केंद्रीय एजेंसियों की कार्रवाई के खिलाफ अपना कड़ा विरोध जताते हुए संगठन ने केरल में शुक्रवार को सुबह से शाम तक की हड़ताल का आह्वान किया है।

- आतंकवाद के कथित वित्त पोषण के खिलाफ राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की अगुवाई में छेड़े गए देशव्यापी अभियान के तहत मध्यप्रदेश से पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के चार कार्यकर्ताओं को बृहस्पतिवार को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि विषय गंभीर है। 

इसे भी पढ़ें: PFI के पक्ष में आये सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क, पूछा- आखिर उसका जुर्म क्‍या है

- केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बृहस्पतिवार को एक बैठक की। समझा जाता है कि बैठक में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से जुड़े परिसरों में की जा रही छापेमारी तथा आतंकवाद के संदिग्धों के खिलाफ कार्रवाई पर चर्चा की गयी।

- दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने PFI से जुड़े 18 अभियुक्तों को 4 दिन की NIA हिरासत में भेजा।

अन्य न्यूज़